*द हंगर प्रोजेक्ट* महिला जनप्रतिनिधियों ने किया विधानसभा का अवलोकन

424

* विधानसभा भवन एवं विधान सभा अध्यक्ष से मिलकर अभिभूत हुई महिला सरपंच
* राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के समक्ष रखे अपने मुद्दे

जयपुर, 11 अक्टूबर2019( निक सोशल) द हंगर प्रोजेक्ट राजस्थान की ओर से प्रदेश की महिला जनप्रतिनिधियों के साथ आयोजित संवाद कार्यक्रम के आज दूसरे दिन 11 अक्टूबर 2019 को महिला जनप्रतिनिधियों ने राजस्थान विधानसभा का अवलोकन किया और विधानसभा की संसदीय कार्यप्रणाली एवं प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी ली। महिला जनप्रतिनिधियों ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी से मुलाकात की और अपने-अपने अनुभवों को साझा करते हुए अपने क्षेत्र और पंचायतों के मुद्दों पर बात की।

उल्लेखनीय है कि द हंगर प्रोजेक्ट राजस्थान के तत्वावधान में जयपुर में महिला जनप्रतिनिधियों के साथ एक संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस संवाद कार्यक्रम में राजसमंद जिले के खमनोर, रेलमगरा, कुम्भलगढ़ ब्लाॅक, सिरोही जिले के पिण्डवाडा ब्लाॅक, जयपुर के चाकसू ब्लाॅक, टोंक जिले के निवाई ब्लाॅक से 24 महिला सरपंचो ने भागीदारी निभाई।
महिला जनप्रतिनिधियों ने विधान सभा सदन, अध्यक्ष महोदय, सचिव एवं सदस्यों की बैठक व्यवस्था का अवलोकन किया। सी.पी.जोशी ने कहा कि महिला जनप्रतिनिधियों को महिलाओं से सम्बन्धित मुद्दों पर अधिक से अधिक काम करने की जरूरत है। महिला सरपंच जनप्रतिनिधि होने के नाते अपने कार्यक्षेत्र एवं भूमिका के अनुरूप कार्य को अंजाम दे। विधायक एवं सासंद मद का पंचायत स्तर पर उपयोग करते हुए विकासात्मक कार्य करवाऐं। उन्होने जनप्रतिनिधियों को सीख प्रदान करते हुए बताया कि सासंद, विधायक एवं सरपंच की कार्य जिम्मेदारियां, कर्तव्य एवं अधिकार अलग-अलग होते है। अतः अपनी जिम्मेदारियों के तहत ही पंचायत स्तर पर ग्राम विकास नियोजन के तहत आयोजना का निर्माण करना चाहिए।

महिला जनप्रतिनिधियों ने पंचायत चुनाव में सुधार, राज्य वित आयोग एवं केन्द्रिय वित आयोग की राशि को अनटाईड देने एवं 5 विभाग के बजट ग्राम पंचायत को हस्तान्तिरित करने की मांग रखी।
महिला जनप्रतिनिधियों के साथ चर्चा में कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया, उदय लाल अंजाना एवं अन्य विधायकों ने भी अपने विचार रखें। महिला जनप्रतिनिधियों ने विधानसभा अध्यक्ष महोदय एवं मंत्री महोदय तथा विधायकगणों को धन्यवाद ज्ञापित किया।