कृष्णा पूनिया ने बदली तस्वीर जयपुर ग्रामीण की, धुंआधार जनसम्पर्क से लोगों के दिलों में बनाई जगह,,

535

कृष्णा ने आमेर में जनता से मांगा आशीर्वाद,,,

एक दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों में किया जनसंपर्क,,,

जयपुर 24 अप्रैल2019।(निक राजनीतिक) जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र की कांग्रेस प्रत्याशी कृष्णा पूनिया की न्याय यात्रा मंगलवार को आमेर विधानसभा क्षेत्र में पहुंची। यात्रा के सुबह आठ बजे नागल सुसावतान पहुंचते ही उपस्थित ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया। इसके बाद न्याय यात्रा कूकस, खोरामीणा, दंड, लबाना, अचरोल, छापराडी, कांट, चित्ताणु, श्यामपुरा, कंवरपुरा, लखेर, सिरोही, बिलपुर, रुंडल, मानपुरा व बिलौची ग्राम पंचायत में गई,न जहां जनसंपर्क कर कृष्णा ने ग्रामीणों से कांग्रेस के पक्ष में मतदान की अपील की। इस दौरान जयपुर ग्रामीण लोकसभा प्रभारी पूर्व मंत्री बृजकिशोर शर्मा, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी रहे प्रशांत शर्मा, पूर्व विधायक गंगासहाय शर्मा, जिला प्रमुख मूलचंद मीणा व हजारीलाल नागर सहित बड़ी संख्या कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे। कृष्णा ने कहा कि शीर्ष नेतृत्व ने मुझे टिकट देकर आप सब के बीच भेजा है। पार्टी टिकट तो सकती है, लेकिन देश की सबसे बड़ी पंचायत में पहुंचाने का कार्य आप लोगों के आशीर्वाद से ही संभव है। जिस तरह से मैंने जी-तोड़ मेहनत करके देश के लिए पदक जीता है, उसी तरह मैं आप सबको विश्वास दिलाती हूं कि यदि मुझे यहां से प्रतिनिधित्व का मौका मिला तो मेरी कोशिश होगी कि राज्य सरकार और केंद्र सरकार की ज्यादा से ज्यादा योजनाओं का लाभ क्षेत्र को मिले।

महिलाओं को देंगे 33 फीसदी आरक्षण,,,,,

कृष्णा ने कहा कि हमारी पार्टी ने तय किया है कि सत्ता में आते ही वह महिलाओं के लिए संसद और विधानसभाओं में 33 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान करेगी। इसके लिए लोकसभा के पहले ही सत्र में प्रस्ताव पास किया जाएगा। इस मौके पर कृष्णा ने कहा कि मैं जहां से विधायक चुनकर आई हूं, वहां मेरे क्षेत्र में महिलाओं ने एक नारा दिया था, ले घंूघट की ओट, दे कृष्णा को वोट। इसका असर यह रहा कि चुनाव में महिलाओं ने पुरुषों के मुकाबले नौ फीसदी ज्यादा वोटिंग की और मुझे 20 हजार वोटों से विजयी बनाया। मैं चाहती हूं कि लोकसभा चुनाव में भी नारी शक्ति ज्यादा से ज्यादा संख्या में वोट करे, जिससे लोकतंत्र मजबूत हो सके। उन्होंने कहा कि राजनीति में आने से पूर्व ही मैं महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में कार्य किया है और अब जनप्रतिनिधि होने के नाते मेरी यह जिम्मेदारी बढ़ गई है। इस कार्य में मुझे आप सबके सहयोग की जरूरत है, बिना इसके यह संभव नहीं होगा।

विकास कार्यों में विफल रहे हैं राज्यवर्धन,,,,

कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा कि मेरे प्रतिद्वंद्वी राज्यवर्धन सिंह राठौड़ भी खेल जगत से आते हैं। उन्होंने भी देश के लिए पदक जीते हैं। मैं उन पर कोई व्यक्तिगत लांछन नहीं लगाना चाहती, लेकिन इतना कहना चाहती हूं कि जब हम राजनीति के क्षेत्र में हैं तो हमारी आप लोगों के प्रति जवाबदेही बन जाती है। वो पिछले पांच साल से यहां से सांसद हैं। मंत्री रहे हैं, लेकिन जनता की सेवा करने में विफल रहे हैं। पांच साल पूर्व जिन वादों के साथ उन्होंने चुनाव लड़ा था। अब उनकी बात ही नहीं करते हैं, बल्कि दूसरे ही मुद्दों पर वोट मांग रहे हैं। जो सांसद पांच सालों में सांसद निधि का 42 फीसदी पैसा क्षेत्र के विकास में नहीं खर्च कर सका, क्या उसे दोबारा मौका मिलना चाहिए? यह बड़ा सवाल है। आपका जनप्रतिनिधि कैसा हो, यह आप सबको तय करना है। लोकतंत्र में वोट सबसे बड़ी ताकत है। इसका इस्तेमाल आप सब को सोच-समझकर करना होगा।

2014 के वादे पूरे करने में नाकाम रही भाजपा,,,,

कृष्णा ने कहा कि राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पूर्व हमारी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में किसानों का कर्जा माफ करने की बात कही थी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सत्ता संभालते ही यह वादा पूरा कर दिया। हमने बेरोजगारों को 3500 रुपए महीना बेरोजगारी भत्ता का भी वादा किया था, जिसे भी पूरा करने के लिए हमारी सरकार कृतसंकल्प है। दूसरी तरफ वो लोग हैं, जिन्होंने 2014 चुनाव में किए गए एक भी वादे को पूरा नहीं किया। भाजपा ने केंद्र की सत्ता आने पर 15 लाख रुपए हर व्यक्ति के बैंक खाते में डालने का वादा किया। दो करोड़ युवाओं को प्रतिवर्ष रोजगार देने का वादा किया, लेकिन सरकार बनने के बाद जब जनता ने इनको इनके वादे याद दिलाए तो इनके राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कह दिया कि वो तो चुनावी जुमला था। इसी से इनकी कथनी और करनी में अंतर स्पष्ट नजर आ रहा है। और तो और इन लोगों ने नोटबंदी और जीएसटी लागू करके आम जनता की कमर तोड़ दी। नोटबंदी के चलते 50 लाख से अधिक लोगों को अपना रोजगार गंवाना पड़ा तो जीएसटी से बड़ी संख्या में छोटे व्यापारियों के उद्योग-धंधे बंद हो गए।

न्याय योजना से दूर होगी गरीबी, गरीब परिवारों को मिलेंगे 72 हजार,,,,

न्याय योजना का जिक्र करते हुए कृष्णा ने कहा कि हमने अपने घोषणा पत्र में गरीब परिवारों के लिए प्रतिवर्ष 72 हजार रुपए देने का वादा किया है। किसानों के लिए अलग से बजट और युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने की बात कही है। ये सभी वादे हमारी सरकार आते ही पूरे किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि न्याय योजना देश में गरीबी खत्म करने का मास्टर स्ट्रोक साबित होगा, क्योंकि इससे 20 फीसदी आबादी जीवन-यापन लायक राशि प्राप्त करने में सफल होगी।
न्याय यात्रा आज विराटनगर में,,,,,

कृष्णा पूनिया की न्याय यात्रा बुधवार को विराटनगर विधानसभा क्षेत्र की दो दर्जन ग्राम पंचायतों में घूमेगी। यात्रा सुबह आठ बजे चिमनपुरा पहुंचेगी। इसके बाद यहां से नाथावाला, साईवाड, बाडी जोड़ी, रामपुरा, छापुड़ा खुर्द, गोविंदपुरा धाबाई, जाजेकलां, पावटा निरंकारी भवन, टोरड़ा गुजरान, कूनेड़, जोधपुरा, भांकरी, मंढा, बड़नगर, तुलसीपुरा, जयसिंहपुरा, बागावास अहिरान, लाड़ा का वास व खेलना ग्राम पंचायतों में जाएगी।