खो नागोरियान वासी कांग्रेस से हैं नाराज़,गन्दगी के ढेर के साथ समस्याएं ही समस्याएं ले डूबेगी ज्योति खण्डेलवाल को

1135

खो नागोरियान के मुस्लिम समाज मे कांग्रेस से नाराजगी,,
बड़ी मुश्किल से बचा सकी है जयपुर शहर से टिकिट,,

जयपुर 19 अप्रैल2019।(निक राजनीतिक)जयपुर में तेजी से बढ़ते कॉलोनियों में गरीबों, अल्पसंख्यकों की जगह कहां है. आसपास देखिये तो गंदे, बदबू भरे, कच्ची सड़कें, कच्चे पक्के घरों का संसार नजर आएगा. कैसी बस्तियां बन रही हैं
यहां के स्थानीय निवासी लतीफ़ अब्बासी और उमरदीन कहते हैं, “इस वार्ड को भी शहर के दूसरे वार्ड के बराबर ही पैसा मिलता है लेकिन वास्तव में उसका बहुत मामूली हिस्सा ही खर्च होता है. इसे लेकर उदासीनता है और कुछ करने की इच्छा का निहायत अभाव है.”
विश्लेषकों का कहना है कि जयपुर इस बात का उदाहरण है कि चमचमाते आलीशान दफ्तरों, शानदार फ्लैट्स वाली इमारतों और बहुमंजिले मॉल से जगमगाते में सेकड़ों गरीब मुसलमान और दलित अपनी जाति या धार्मिक आधार पर बंटी बस्तिओं में कैसे सिमटते जा रहे हैं. खासकर चारदीवारी, रामगंज, शास्त्री नगर, नाइ की थडी, चार दरवाज़ा ,ऐसी कई छोटी मोती बस्तियों हैं जहाँ छोटी छोटी मुलभुत सुविधाओं का आभाव हैI
लेकिन अफ़सोस इन मुस्लिम और दलितों के बात तो सब करते है लेकिन ज़मीनी स्तर पर आज तक काम नही हुआ है
इसी क्रम मे हम आज आपको जयपुर की सबसे पुरानी आबादी के बारे मे बताएँगे, जहाँ पर विकास की गाड़ी आज तक भी नही पहुंची है, राजधानी का बीहड, खो नागोरियान शून्य विकास में लिस्ट में सब से ऊपर है I
ऐसी जगह जहाँ आज तक सडकें बनी हैं, ना इतनी बड़ी आबादी मे एक भी बैंक हैं, ना कोई सरकारी अस्पताल है एक छोटी से स्पेंसरी को छोड कर , यहाँ एक भी एटीएम नही तक नही है Iसीवर लाइन भी यहाँ आज तक नही डली है जिससे नालियों का पानी कच्ची सड़को पर बहता रहता है। जिससे हमेशा कीचड़ हो गया है जगह जगह।
खो नागोरियान में नल कनेक्शन नहीं है। यहां के निवासी बीसलपुर परियोजना कि ओर से लगी टंकी से पानी भरते हैं। टंकी के पानी में गन्दगी आती है। लोगों ने बताया कि इससे उन्हें पेट दर्द, पांव दर्द और सांस से जुड़ी बीमारियां हो रही है। जनप्रतिनिधियों को कई बार समस्या बताई लेकिन समाधान नहीं हुआ।
इन आबादियों के यह हालात तब है कि जब की ये राजधानी में आते हैं। ये इलाका मुस्लिम बाहुल्य है और बगरु विधानसभा मे आता है I जहाँ की वर्तमान विधायक गंगा देवी है , कांग्रेस से जीती हैं, पिछली गहलोत सरकार मे भी यही से विधायक थीं, ना तब कुछ काम हुआ ना अब,I इत्तेफाक से यहाँ के पार्षद भी कांग्रेस से हैं I
यहां दो तरह की मुस्लिम आबादी हैं एक जयपुर शहर से भी पुरानी और एक हाल ही के वर्षों में बसी। जयपुर के सबसे पुराने आबादी में से हैं लेकिन विकास यहां सबसे बाद में आता है. आप सरकारी बस ,सफाई, बैंक, हॉस्पिटल, सड़क, बिजली, पानी की हालत देख लीजिए आपको मुसलमानों की परेशानी समझ में आ जाएगी
खो नागोरियान के मदीना नगर, करीम नगर, रहीम नगर, मोहल्ले की गलियों में जब आप घुसेंगे तो यह बिना पक्की सड़क और गंदगी से भरी हुई हैं I, सरकारी बसे नही चलती , लोग सिर्फ प्राइवेट वाहनों में आते जाते है, ताज्जुब है कोई आवाज़ उठाने वाला नही है, पार्षद , विधायक बात तो दूर एक पैसे का काम नही करते।
माना पहले बीजेपी सरकार थी तो मुस्लिम बस्तियों मे काम नही हुआ I पर कांग्रेस की सरकार को भी 4 महीने हो चुके हैं। आस पास की कॉलोनियों में जो की गोनेर रोड की पर बसी कॉलोनियों, जामडोली आदि मे विकास चरम पर है पर खो नागोरियान जहां मुस्लिम वोट बैंक हैं वहां आपको ताज्जुब होगा कि आज तक सड़क कभी बनी ही नही है। नगर निगम के एक भी सफाई कर्मचारी नही आता। इतनी सरकारे आई और गईं लेकिन खो नागोरियान को स्मार्ट गांव में तब्दील करना तो दूर मूल समस्या का समाधान भी नहीं करवा सके। हमारी टीम ने वहां की ग्राउंड रिपोर्टिंग कर वहां की समस्याएं और प्रशासन के दावों के तहत किए गए कार्यों की पड़ताल की, तो स्थिति बेहद खराब निकली। पैदल चलना भी मुश्किल है। गन्दगी के अंबार लगे हैं । पीने के पानी का टैंकर 400 रुपये का है। ऐसे मे आप अंदाज़ा लगाइए की गरीब आदमी पानी केसे पी पायेगा, गरीब को जीना है तो पानी पीना पड़ेगा खरीद कर I
चुनाव के वक़्त यही राजनेता किस कदर बेशर्मो की तरह वोट मांगने आ जाते हैं, कांग्रेस वाले सोचते होंगे के ये मुस्लिम समाज के लोग जायेंगे कहाँ झक मार के पार्टी को वोट देंगे I मैडम सोचती होंगी कहाँ जाएंगे ये घूम फिर कर यही आएंगे। तो छोड़ो इनका वोट तो इनके तथाकथित होलसेलरों ने तय कर लिया है I
लेकिन इस बार खो नागोरियान मे एसा नही होगा ,या तो चुनाव का बहिष्कार या तीसरा मोर्चा, यहाँ के निवासियों के पास कांग्रेस पर भरोसा करने के लिए कुछ भी नही हैं I
सोच रहा है खो नागोरियान हवा का रुख पलट कर देखने की, मूड बदलने की ये तो तय है इस बार कांग्रेस को खो नागोरियान से भारी नुक्सान होने वाला हैज्योति खण्डेलवाल को होगी दिक्कत